समाचार और लेख

archives

saif

swach bharat

डॉ. वीरेश कुमार

Staff Image
Dr VEERESH KUMAR
ई-मेल
फैक्‍स
080-2341-1961
व्‍यावसायिक अनुभव
3.5 वर्ष
एम.एससी., पीएच.डी. (कृषि कीटविज्ञान)
एम.एससी., पीएच.डी. (कृषि कीटविज्ञान)
होमोप्‍टेरन नाशीजीवों के परभक्षियों के लिए बहु उत्‍पादन तकनीकों के विकास पर कार्यरत।
फसलों पर कीटों का परागण, मधुमक्खीड विविधता और संरक्षण।
प्रशिक्षण
बोगोर, इंडोनेशिया में दिनांक 27 – 31 अगस्तठ 2018 के दौरान विश्व् कृषिवानिकी केंद्र (आईसीआरएएफ) में संचालित मेटा-एनालिसिस में प्रारंभिक पाठ्यक्रम में भाग लिया।
भारतीय चारा और चरागाह अनुसंधान संस्था न (आईजीएफआरआई), झांसी, 2018 में आयोजित दोहरे प्रयोजन एवं घासों में प्रजनन और आश्व।स्त( गुणवत्ता बीज उत्पाकदन पर इक्की स दिवसीय शीतकालीन शिविर प्रशिक्षण में भाग लिया।
जैव विविधता: कीटविज्ञान विभाग, यूएएस, बेंगलुरु, 2017 में 07 दिवसीय जैवविविधता - पहचान और मात्रीकीकरण पर कार्यक्रम में भाग लिया।
भाकृअनुप-सीएएफआरआई, झांसी में दिनांक 06-09 दिसंबर, 2016 के दौरान आयोजित कृषिवानिकी: अवधारणा, सिद्धांत और प्रैक्टिस पर अंतर्राष्ट्रीसय प्रशिक्षण में भाग लिया।
कृषि विज्ञान, जीकेवीके विश्वोविद्यालय, बेंगलुरु के कीटविज्ञान विभाग द्वारा वर्ष 2016 में आयोजित ''फसलों पर मौजूद कीटों का परागण'' पर तीन माह के प्रोफेशनल अटैचमेंट प्रशिक्षण में भाग लिया।
01 जुलाई से 31 सितंबर, 2015 के दौरान एनएएआरएम, हैदराबाद में तीन माह के ''फोकार्स'' प्रशिक्षण में भाग लिया।
पुरस्‍कार और सम्‍मान
वर्ष 2019-20 के दौरान फुलब्राइट-नेहरू पोस्टन डॉक्टो)रल रिसर्च पुरस्का र प्राप्ता किया, जिसे संयुक्तष राष्ट्र -भारत शैक्षिक फाउंडेशन (यूएसआईईएफ) द्वारा प्रदान किया गया।
2018-19 के दौरान प्रारंभिक करियर अनुसंधान पुरस्काडर प्राप्तस किया गया, जिसे डीएसटी-एसईआरबी द्वारा प्रदान किया गया।
वर्ष 2016 का कनिष्टा वैज्ञानिक पुरस्कातर प्राप्त किया गया, जिसे राष्ट्री य पर्यावरण विज्ञान अकादमी, नई दिल्लीा, भारत द्वारा प्रदान किया गया।
''पीजी साइंस वीक'', 2015, कृषि विज्ञान विश्वेविद्यालय, बेंगलुरु, भारत में दिनांक 4 से 7 मई के दौरान ''द् बज ऑफ द् अदर बी'' पर सर्वश्रेष्ठर मौखिक प्रस्तुातीकरण दिया गया।
वर्ष 2014-15 के दौरान विश्वाविद्यालय अनुदान आयोग राष्ट्रीरय अध्येतता पुरस्का र प्राप्तव किया गया, जिसे विश्वऑविद्यालय अनुदान आयोग, नई दिल्ली , भारत द्वारा प्रदान किया गया।
एएसआरबी, नई दिल्लीा द्वारा वर्ष 2013-14 द्वारा आयोजित कृषि अनुसंधान सेवा (एआरएस) परीक्षा में प्रथम स्था न हासिल किया।
भाकृअनुप-नेट-व्याहख्यावता, कृषि वैज्ञानिक चयन बोर्ड, नई दिल्लीय, भारत, 2012-13.
सर्वश्रेष्ठन मास्टदर शोधप्रबंध, 2013 के लिए जोशी स्व्र्ण पदक पुरस्कािर प्राप्तए किया गया, जिसे कृषि विज्ञान विश्वटविद्यालय, बेंगलुरु, कर्नाटक, भारत द्वारा प्रदान किया गया।
भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद, नई दिल्लीु, भारत की कनिष्ठर अनुसंधान अध्येगतावृत्ति, 2010 प्राप्तक की।
संक्षिप्‍त उपलब्धियां
कृषि जलवायु क्षेत्रों के आधार पर लीफ कटर मधुमक्खीु की विविधता का आकलन किया गया।
मेगाचिलाइडा परिवार से संबंधित लीफ कटर मधुमक्ख्यिों की 48 प्रजातियों का चित्रण-वर्णन किया गया।
चारा की खोज करने वाले लीफ कटर मधुमक्खियों के रूप में 18 परिवारों से संबंधित 44 पादप प्रजातियों की पहचान की गई।
मैंने लीफ कटर मधुमक्खियों के संरक्षण हेतु आइपोमिया पादप प्रजातियों से कृत्रिम नेस्टिंग रीड्स भी विकसित किए।
ग्रेविया फ्लेवेसेन्सख जुस. की पुष्पीदय बायोलाजी को पहली बार इंगित किया गया।
मैंने जेट्रोफा (जेट्रोफा कुरकेस), सनहेम्पल (क्रोटेलेरिया जुनेसिया एल.) नाइजर (गुईजोटिया एबसिनिका), डॉन्कीफ बेरी (ग्रेविया फ्लेवेसेन्सप), करांजा (पोंगामिया पिन्ने‍टा) के कीट परागण अध्यनयनों में भी कार्य किया है।
प्रकाशन
13
चयनित प्रकाशन
वीरेश कुमार एवं कुमारानाग, के. एम., 2018. डायवर्सिटी एंड कंजर्वेशन ऑफ लीफ कटर बी (हाइमेनाप्टे रा: मेगाचिलिडा)। एडवांसिस इन प्लांाट्स एंड एग्री कल्चकरल रिसर्च, 8 (2) : 00291.
वीरेश कुमार, टेरी ग्रिसवॉल्ड, एवं वासुकी वी. बेलावाडी, 2017. द् रेसिन एंड कार्डर बीज ऑफ साउथ इंडिया (हाइमेनाप्टेररा : मेगाचिलाइडा: एंथिडीनी)। जूटैक्सा, 4317 (3) : 436-468.
वीरेश कुमार, ए. आर. उथप्पा, मधुलिका श्रीवास्तव, डी. विजय, के. एम. कुमारनाग, एन. मंजूनाथ, मनीत राणा,। राम निवाज, ए. के. हांडा एवं ओ. पी. चतुर्वेदी, 2017. फ्लोरल बायोलाजी ऑफ ग्रेविया फ्लेवेसेन्स, जुस: एन अंडरयूटिलाइज्ड क्रॉप्स।। जेनेटिक रिर्सोसिस एंड क्रॉप इवोलुशन, 64 : 1789-1795.
अमला, यू., शिवलिंगास्वामी, टी. एम. एवं वीरेश कुमार, 2017. एन अनयूजअल नेस्टिंग साइट बाइ लीफ लीफ कटर बी मेगैचाइल (एथोमेगाचाइल) लैटिसेप्सी स्मिथ। जर्नल ऑफ कंसल एन्टोमोलॉजिकल सोसायटी, 90 (1) : 77-81.
वीरेश कुमार, ए. आर. उथप्पाय, मधुलिका श्रीवास्त8व, बी., आलम, ए. के. हांडा एवं ओ. पी. चतुर्वेदी, 2017. इंसिडेंस पैटर्न ऑफ वुड बोरर (सिनोक्सीपलोन अनाले लेस्नेर) ऑन दलबेरजिया सिसू रॉक्सिबी. रेंज मैनेजमेंट एंड एग्रोफॉरेस्ट्रीस, 38 (2) : 285-288.
एम. श्रीवास्तव, ए. के. सिंह, एस. जी. परिहार, आर. डी. गौतम एवं वीरेश कुमार, 2017. कंपरेटिव अफेक्टो ऑफ फॉम्यू्लेटेड केरियोमोनल डस्ट्से ऑन पैरासाइटिजाइजेशन एफिसियेंसी ऑफ ट्राइकोग्रामा एसपीपी.। जर्नल ऑफ़ एनवायरनमेंटल बायोलॉजी, 38 (4) : 641-648.
वीरेश कुमार, बेलवाडी, वी.वी. एवं अंकिता गुप्ता टी, 2015. पैरासाइटेशन ऑफ लीफ-कटर बीज़ (मेगैचिलिडा: अपॉइडिया) बाइ मेलिटोबिया। एंटोमोन, 40 : 105-112.
वीरेश कुमार, बेलवाडी, वी. वी. 2015. द् बज ऑफ द् 'अदर बीज : स्पीएसीस डायवर्सिटी ऑफ लीफ कटर बीज (हाइमेनोप्टेारा : मेगाचिलाइडा) इन कर्नाटका। मैसूर जर्नल ऑफ एग्रीकल्चर साइंस, 49: 332-336.
वीरेश कुमार, बेलवाडी, वी. वी. एवं अशोक कुमार, सी. टी. 2012. हनी बीज एज अफेक्टिव पॉलीनेटर्स ऑफ जेटरोफा। हेक्सापॉड, 19 : 27-31.