समाचार और लेख

archives

saif

swach bharat

डॉ. महेश यांडिगेरी

Staff Image
Dr. Mahesh Yandigeri
दूरभाष सं.
080-2351-1982
फैक्‍स
080-2341-1961
व्‍यावसायिक अनुभव
9 वर्ष
एम.एससी., पीएच.डी. (कृषि कीटविज्ञान)
एम. एससी., पीएच. डी. (सूक्ष्म जीव विज्ञान)
होमोप्‍टेरन नाशीजीवों के परभक्षियों के लिए बहु उत्‍पादन तकनीकों के विकास पर कार्यरत।
अजैविक दबावों का सूक्ष्मिजीव विज्ञान एवं जैव प्रौद्योगिकी, कल्चोरेबल एवं अनकल्च‍रेबल सूक्ष्मदजीव विविधता विश्लेवषण, सूक्ष्मकजीव एंडोसिम्बावयोन्टन, सूक्ष्मंजीव प्रबंधन।
प्रशिक्षण
सेंटर फॉर बायोसेफ्टी (GenØk) नॉर्वे द्वारा प्रायोजित क्षेत्रीय पाठ्यक्रम - दक्षिण एशिया 'आनुवंशिक अभियांत्रिकी और आनुवंशिक रूप से परिष्कृदत जीवों के आकलन और विनियमन के लिए होलिस्टिक फाउंडेशन्सी' पर स्थाृयी कृषि केंद्र, भारत, पर्यावरण शिक्षा केंद्र (सीईई) भारत, GenØk नॉर्वे और तृतीय विश्वं नेटवर्क (टीडब्यूे एन) मलेशिया द्वारा भारत के हैदराबाद में दिनांक 2-7 मई 2011 के दौरान आयोजित प्रशिक्षण।
'माइक्रोबाइल डायवर्सिटी एनालिसिस ऑफ एक्स्ट्रीमोफिलेस' पर एनबीएआईएम, मऊनाथ भंजन, उत्तर प्रदेश, भारत द्वारा आयोजित राष्ट्रीनय प्रशिक्षण में दिनांक 26-30 नवंबर, 2006 के दौरान प्रतिभागिता।
'कृषि महत्व पूर्ण सूक्ष्मभजीवों के लक्षणवर्णन के लिए नवीनतम और नवोन्मेनषी जैव रासायनिक एवं आणविक टूल्स '' पर राष्ट्रीकय कृषि महत्व पूर्ण सूक्ष्मषजीव ब्यू रो (एनबीएआईएम), मऊ नाथ भंजन, उत्तर प्रदेश, भारत में आयोजित 21 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में दिनांक 12 जनवरी से 01 फरवरी, 2009 के दौरान प्रतिभागिता।
'कृषि महत्वापूर्ण सूक्ष्मिजीवों की आणविक पहचान और लक्षणवर्णन में नवीनतम उन्न)यन'' पर राष्ट्री य कृषि महत्वूपूर्ण सूक्ष्मआजीव ब्यूलरो (एनबीएआईएम), मऊ नाथ भंजन, उत्तर प्रदेश, में एनबीएआईएम द्वारा आयोजित शीतकालीन शिविर (21 दिवसीय) में दिनांक 01-21 सितंबर, 2009 के दौरान प्रतिभागिता।
'ऐक्टिनोमायसेटेस की पहचान और लक्षणवर्णन के लिए आणविक पद्धतियां' पर एनबीएआईएम, मऊ नाथ भंजन, उत्तर प्रदेश, में दिनांक 1-10 दिसंबर, 2009 के दौरान राष्ट्री य प्रशिक्षण कार्यक्रम का संचालन किया गया।
सूक्ष्मषजीव अनुसंधान में बौद्धिक संपदा अधिकार (आईपीआर) पर एनबीएआईएम, मऊ नाथ भंजन, उत्तर प्रदेश, में दिनांक 20 दिसंबर, 2010 को सुग्राहीकरण बैठक का संचालन।
एनएआईपी परियोजना शीर्षक 'भाकृअनुप के लिए राष्ट्री य कृषि जैवसूचना विज्ञान ग्रिड (एनएबीजी) की स्थाापना' के तहत 'सूक्ष्मूजीव विज्ञान अनुसंधान में जैवसूचना विज्ञान और संगणनात्मजक जीवविज्ञान' पर सुग्राहीकरण प्रशिक्षण का संचालन किया गया। सूक्ष्मअजीव अनुसंधान में बौद्धिक संपदा अधिकार (आईपीआर) पर एनबीएआईएम, मऊनाथ भंजन, उत्तर प्रदेश, में दिनांक 25 मार्च, 2012 को सुग्राहीकरण बैठक का संचालन किया गया।
पुरस्‍कार और सम्‍मान
लाइफ साइंस फाउंडेशन इंडिया, बेल्लाररी, कर्नाटक, भारत से नैना-जैव प्रौद्योगिकी में स्ना तकोत्तर डिप्लोडमा (पीजीडीबीएनटी) प्राप्तब किया गया।
उच्चय सॉफ्टवेयर अभियांत्रिकी प्रशिक्षण केंद्र (सीएटीएसई), धारवाड़, कर्नाटक, भारत द्वारा कंप्यूाटर अनुप्रयोग (डीसीए) में डिप्लोषमा प्रदान किया गया।
भारतीय कृषि अनुसंधान संस्था‍न, पूसा परिसर, नई दिल्लीआ के 45वें दीक्षांत समारोह में पीएच. डी. के दौरान उत्कृथष्टा शैक्षिक प्रदर्शन के लिए 'आईएआरआई मेरिट पदक' प्रदान किया गया।
वर्ष 1997-98 से बी. एससी. (कृषि) शिक्षण के दौरान और 2001-2003 के दौरान विश्वहविद्यालय मेरिट छात्रवृत्ति एम. एससी. के लिए भाकृअनुप-कनिष्ठद अनुसंधान अध्ये-तावृत्ति।
भारतीय सूक्ष्म्जीव संघ का जीवन पर्यन्तए सदस्यल।
कृषि महत्व्पूर्ण सूक्ष्माजीव आनुवंशिक संसाधन सोसायटी (एसएआईएमजीआर) का जीवन पर्यन्तत सदस्यस।
संक्षिप्‍त उपलब्धियां
भारत के भारत-गंगा मैदानी क्षेत्रों, मैनग्रोव और उग्र पारिस्थितिकियों से लगभग 85 ऐक्टिनोमाइसेटेस प्रजातियों की पहचान की गई, और उनका प्रलेखन कर उन्हेंे राष्ट्री य कृषि महत्वनपूर्ण सूक्ष्म जीव ब्यूआरो (एनबीएआईएम), कुशमौर, मऊ नाथ भंजन, उत्तर प्रदेश के राष्ट्री य कृषि महत्वसपूर्ण सूक्ष्मपजीव ब्यूयरो कल्चआर संग्रह (एनएआईएमसीसी) में जमा कराया गया।
महेश एस. यांडिगेरी, दिलीप के. अरोड़ा एवं अरविंद के. यादव (2010) द्वारा लिखित शीर्षक 'साइनोप्टिकल कीज फॉर आइडेंटीफिकेशन ऑफ स्ट्रेेप्टोअमाइसेस जेनरा' के आधार पर स्ट्रेइप्टोफमाइसेस और संबद्ध वंशों की 342 प्रजातियों को कवर कर स्ट्रेवप्टो्माइसेस वंश की पहचान करने के लिए एक उद्धरणयुक्तइ आइडेंटीफिकेशन गाइड का संकलन किया गया, जिसका प्रकाशन (ISBN: 978-81-909892-0-6) राष्ट्री य कृषि महत्वटपूर्ण सूक्ष्मेजीव ब्यूररो (एनबीएआईएम), कुशमौर, मऊ नाथ भंजन, उत्तर प्रदेश द्वारा किया गया।
गेहूं में जल दबाव के उन्मूसलन के लिए तीन प्रमुख सूखा सहिष्णुई अंत:पादपीय ऐक्टिनोमाइसेटेस की पहचान की गई। ऐक्टिनोमाइसेटेस की आणविक पहचान और लक्षणवर्णन के लिए 12 एम. एससी. छात्रों का मार्गदर्शन किया गया और कई शोधार्थियों को प्रशिक्षित किया गया।

एनसीबीआई जीनबैंक में 118 सूक्ष्ममजीव जीन अनुक्रमों को जमा किया गया।
राष्ट्री य कृषि महत्वचपूर्ण सूक्ष्म्जीव ब्यूारो (एनबीएआईएम), कुशमौर, मऊ नाथ भंजन, उत्तर प्रदेश, भारत में ऐक्टिनोमाइसेटेस कल्चमर संग्रह स्था।पित किया गया।
अभिज्ञान
लाइफ साइंस फाउंडेशन इंडिया, बेल्ला्री, कर्नाटक, भारत से नैनो-जैव प्रौद्योगिकी में वर्ष 2008-09 के दौरान स्ना तकोत्तर डिप्लो मा (पीजीडीबीएनटी) प्राप्ति किया गया।
उच्चय सॉफ्टवेयर अभियांत्रिकी प्रशिक्षण केंद्र (सीएटीएसई), धारवाड़, कर्नाटक, भारत द्वारा कंप्यूाटर अनुप्रयोग (डीसीए) में डिप्लो्मा प्रदान किया गया।
भारतीय कृषि अनुसंधान संस्था्न, पूसा परिसर, नई दिल्लीि के 45वें दीक्षांत समारोह में पीएच. डी. के दौरान उत्कृतष्ट शैक्षिक प्रदर्शन के लिए 'आईएआरआई मेरिट पदक' प्रदान किया गया।
वर्ष 1997-2001 से बी. एससी. (कृषि) शिक्षण के दौरान और 2001-2003 के दौरान विश्व्विद्यालय मेरिट छात्रवृत्ति एम. एससी. के लिए भाकृअनुप-कनिष्ठ अनुसंधान अध्ये तावृत्ति प्राप्तक की।
भारतीय सूक्ष्मिजीव संघ का जीवन पर्यन्तए सदस्यी।
कृषि महत्व्पूर्ण सूक्ष्माजीव आनुवंशिक संसाधन सोसायटी (एस.ए.आई.एम.जी.आर.) का जीवन पर्यन्तत सदस्यस।
प्रकाशन
31
चयनित प्रकाशन
कमलेश के. मीना, सुकुमार मेसापोगू, मनीष कुमार, महेश एस. यांडिगेरी, गीता सिंह और अनिल के.। सक्सेना (2010)। को-इनोकुलेशन ऑफ द् एंडोफाइटिक फंगस पिरिफोर्मोस्पोरा इंडिका विद द् फॉस्फेाट-सॉल्यूनबिलाइजिंग बैक्टीकरिया स्यूडोमोनास स्ट्रेएटा अफेक्ट्स पॉप्यूेलेशन डायनामिक्स् एंड प्लांेट ग्रोथ इन चिकपी। बायोलॉजी एंड फर्टिलिटी ऑफ सॉयल्सा, 46 : 169–174 (डीओआई: 10.1007 / s00374-009-0421-8).
धनंजय पी. सिंह, रत्ना प्रभा, महेश एस. यांडिगेरी, दिलीप के. अरोड़ा (2011) सायनोबैक्टीरिया-मिडएटेड फिनाइलप्रोपेनोइड्स एंड फाइटोहोर्मोन्स इन राइस (ओरिजा सतिवा) इनहांस प्लां ट ग्रोथ एंड स्ट्रेनस टॉलरेंस। एंटोनाइन वैन लीउवेनहोइक, 100 (4) : 557-68 (डीओआई: 10.1007/ s10482-011-9611-0).
श्वेता तिवारी, प्रतिभा सिंह, रामेश्वर तिवारी, कमलेश के. मीणा, महेश यांडिगेरी, धनंजय पी. सिंह, दिलीप के. अरोड़ा (2011)। साल्ट्-टालरेंट राइज़ोबैक्टीरिया-मिडिएटेड इंड्यूस्डओ टॉलरेंस इन व्हीाट (ट्रिटिकुम ऐस्टिवुम) एंड कैमिकल डायवर्सिटी इन राइज़ोस्फेयर इनहांसिस प्लां ट ग्रोथ। बायोलॉजी एंड फर्टिलिटी ऑफ सॉयल्सॉ, 47 (8) : 907-916 (डीओआई: 10.1007 / s00374-011-0598-5).
नित्यानंद मालवीय, अरविंद के. यादव, महेश एस. यांडिगेरी, दिलीप के. अरोड़ा (2011)। डायवर्सिटी ऑफ कल्चंरेबल स्टेेप्टोवमाइसेटेस फ्रॉम व्ही1ट क्रॉपिंग सिस्ट6म ऑफ फरटाइल रीजन्सड ऑफ इंडो-गेंगटिक प्ले‍न्से, इंडिया। वर्ल्डद जर्नल ऑफ माइक्रोबायोलॉजी एंड बायोटेक्नोललॉजी, 27 : 1593-1602 (डीओआई: 10.1007 / s11274-010-0612-3).
महेश एस. यांडिगेरी, अरविंद के. यादव, आर. श्रीनिवासन, सुधांशु कश्यप और सुनील पाब्बी (2011)। स्ट्डींज ऑन मिनरल फॉस्फे ट सॉल्यू0बिलाइजेशन बाइ सियानोबैक्टीरिया वेस्टियालोप्सिस एंड अनाबेइना। माइक्रोबायोलॉजी, 80(4):558-565 (डीओआई:10.1134/ S002626171105050XX)
महेश एस. यांडिगेरी, अरविंद के. यादव, आर. श्रीनिवासन, सुधांशु कश्यप और सुनील पाब्बी (2011)। स्ट्डींज ऑन मिनरल फॉस्फे ट सॉल्यू0बिलाइजेशन बाइ सियानोबैक्टीरिया वेस्टियालोप्सिस एंड अनाबेइना। माइक्रोबायोलॉजी, 80(4):558-565 (डीओआई:10.1134/ S002626171105050XX)
श्रीनिवासन रामकृष्णन, अजान्ना- आर. अलागावाडी, महेश एस. यांडिगेरी, कमलेश कुमार मीणा और अनिल के. सक्सेना (2012)। करेक्ट्रा इजेशन ऑफ फॉस्फेट-सॉल्युबिलाइजिंग माइक्रोऑर्गेनिज्स्ेब फ्रॉम साल्ट्-अफेक्टेसड सॉयल्सा ऑफ इंडिया एंड देयर इफेक्टब ऑन ग्रोथ ऑफ शोरघुम प्लां ट्स) [सोरघुम बाइकलर (एल.) मोइंच]। एन्स्ेयर ऑफ माइक्रोबायोलॉजी, 62 (1) : 93-105 (डीओआई: 10.1007 / s13213-011-0233-6).
श्रीनिवासन रामकृष्णन, अज्जनन्ना9 आर. अलागावाडी, महेश एस. यांडिगेरी और अनिल के. सक्सेना (2012)। इफेक्टस ऑफ साल्ट् ऑन सरवाइवल एंड पी-सॉल्यू7बिलाइजेशन पोटेंशियल ऑफ फॉस्फेीट सॉल्यू1बिलाइजिंग माइक्रोऑर्गेनिज्स्ाल फ्रॉम साल्ट1 अफेक्टेवड सॉयल्सट। सऊदी जर्नल ऑफ़ बायोलॉजिकल साइंसिस (एल्सेवियर), 19, 427–434. (डीओआई 10.1016/j.sjbs.2012.05.004).
महेश एस. यांडिगेरी, कमलेश कुमार मीणा, दिव्या सिंह, नित्यानंद मालवीय, धनंजय पी. सिंह, मनोज कुमार सोलंकी, अरविंद कुमार यादव और दिलीप के. अरोड़ा (2012)। ड्रॉट-टॉलरेंट एंडोफाइटिक एक्टिनोबैक्टीरिया प्रोमोट ग्रोथ ऑफ व्ही्ट (ट्रिटिकम ऐस्टिवुम) अंडर वाटर स्ट्रे स कंडिशन्सि। प्लां ट ग्रोथ रेगुलेशन 68 (3) : 411-420 (डीओआई 10.1007 / s10725-012-9730-2).