समाचार और लेख

archives

saif

swach bharat

डॉ. के. सेल्वालराज

Staff Image
Dr. K. Selvaraj
दूरभाष सं.
080-2351-1982
फैक्‍स
080-2341-1961
व्‍यावसायिक अनुभव
5 वर्ष
एम.एससी., पीएच.डी. (कृषि कीटविज्ञान)
एम. एससी., पीएच .डी. (कृषि कीटविज्ञान)
होमोप्‍टेरन नाशीजीवों के परभक्षियों के लिए बहु उत्‍पादन तकनीकों के विकास पर कार्यरत।
कीट पारिस्थितिकी, जैविक नियंत्रण, समेकित नाशीजीव प्रबंधन और फसल-नाशीजीव अन्योान्यसक्रियाओं पर जलवायु परिवर्तन के प्रभाव का मूल्यांरकन।
प्रशिक्षण
राष्ट्री य
''नेनोमटिरिअल्सु का संश्लेवषण और लक्षणवर्णन और कृषि में उनका अनुप्रयोग'' पर भाकृअनुप-सिरकोट, मुंबई में राष्ट्रीेय प्रशिक्षण पाठ्यक्रम।
''नाशीजीव प्रबंधन के लिए कृषि पारिस्थिकीय विश्लेिषण और पारिस्थितिकी अभियांत्रिकी'' पर राष्ट्री य पादप स्वाृस्य्य प्रबंधन संस्था न, हैदराबाद में प्रशिक्षण।
संक्षिप्‍त उपलब्धियां
परिशुद्ध नाशीजीव प्रबंधन के लिए चावल और जूट में बहु-प्रजाति के नाशीजीवों द्वारा किए गए आर्थिक नुकसान के स्तनरों का निर्धारण।
चावल में पिंक बोरर, सेसेमिया इनफेरेन्सु वाल्कजर और बिहार हेयरी कैटरपिलर, स्पिलोसोमा ऑब्लिक्वाप वाल्क,र के थर्मल कन्टेंु् ट और विकास थ्रेसहोल्डय का निर्धारण।
पिंक स्टेिम बोरर, सेसबेनिया इनफेरेन्सक और चावल पर जलवायु परिवर्तन के प्रभावों का आकलन करने के लिए एक अनुकार मॉडल विकसित और वैधीकृत किया गया।
जूट में बिहार हेयरी कैटरपिलर, स्पिलोसोमा ऑब्लिक्वाो और येलो माइट, पॉलीफेगोनेमस लेटुस के विरूद्ध नए पीड़कनाशक अणुओं की जांच।
कुछ नए पीड़कनाशियों, वानस्पाितिक पदार्थों की बेसिलुस थुरिंजिंसिस के साथ संयुक्तृ विषाक्तपता का एस. ऑब्लिक्वाा के विरूद्ध मानकीकरण किया गया।
चूषक नाशीजीवों, यानी ऐफिड, काष्ठाकीटों के विरूद्ध विभिन्नस कीटरोगजनक कवकों की जांच।
जूट हेयरी कैटरपिलर और पीले बरूथी के जीवविज्ञान और जीवन चक्र प्राचलों पर छह प्रस्फुनटन रेशा फसलों के परपोषी पादपों के प्रभाव का अध्यनयन।
जूट में बिहार हेयरी कैटरपिलर, स्पिलोसोमा ऑब्लिक्वाो वाल्कफर के जीवन चक्र और प्रजननशीलता का अध्य यन।
जूट में बिहार हेयरी कैटरपिलर, स्पिलोसोमा ऑब्लिक्वाो वाल्कफर के जीवन चक्र और प्रजननशीलता का अध्य यन।
अभिज्ञान
शैक्षिक वर्ष कार्यक्रम 2006 के दौरान स्नाोतकोत्तर अध्यययनों के लिए भाकृअनुप प्रवेश परीक्षा में छठा अखिल भारतीय रैंक प्राप्त2 किया और कनिष्ठा अनुसंधान अध्ये‍ता (जेआरएफ) पुरस्का र प्राप्तल किया।
शैक्षिक कार्यक्रम 2009 के दौरान पीएच. डी. की शिक्षा ग्रहण करने के लिए भाकृअनुप वरिष्ठक अनुसंधान अध्ये्तावृत्ति (एसआरएफ) प्राप्तध की गई।
बायोकंट्रोल एडवांसमेंट सोसायटी का जीवन पर्यन्तक सदस्य्, भाकृअनुप-एनबीएआईआई, बेंगलुरु।
भारतीय प्राकृतिक रेशा सोसायटी, भाकृअनुप-निरजाफ्ट, कोलकाता का जीवन पर्यन्ती सदस्यव।
भारतीय पादप संरक्षण सोसायटी, भाकृअनुप-एनबीपीजीआर, हैदराबाद का जीवन पर्यन्तत सदस्यु।
भाकृअनुप-केंद्रीय अनुसंधान जूट एवं संबद्ध रेशा संस्थाएन (क्रिजाफ) के अर्द्धवार्षिक समाचार-पत्र, जैफ़ न्यूअज (ISSN: 0973-0036) का 2011-14 से संपादक।
भाकृअनुप-क्रिजाफ के वार्षिक प्रतिवेदन (ISSN: 0973-0044), केंद्रीय अनुसंधान जूट एवं संबद्ध रेशा संस्था न (क्रिजाफ) की तकनीकी रिपोर्ट का 2012-2016 से संपादक।
जूट और संबद्ध रेशा पर एआईएनपी के वार्षिक प्रतिवेदन, केंद्रीय अनुसंधान जूट एवं संबद्ध रेशा संस्था्न (क्रिजाफ) की तकनीकी रिपोर्ट का 2014-16 से संपादक।
''इंटरनेशनल बायोलॉजीकल टेक्नोालॉजी'' और ''जर्नल ऑफ इनोवेटिव एग्रीकल्चूर'' (ISSN: 2394-5389) के संपादकीय बोर्ड का 2015 से सदस्यऔ।
प्रकाशन
34
चयनित प्रकाशन
गोट्याल, बी. एस., सत्पथी, एस., सेल्वराज, के. और रमेश बाबू, वी. (2013)। कॉम्पॉरेटिव बायोलॉजी ऑफ बिहार हेयरी कैटरपिलर, स्पिलोसोमा ऑब्लिका ऑन कल्टी.वेटेड एंड वाइल्ड जूट स्पी1सीज। इंडियन जर्नल ऑफ प्लांट प्रोटेक्शन, 41 (3) : 219-221.
गोट्याल, बी. एस., सेल्वराज, के., मीना, पी. एन. और सत्पथी, एस. (2015)। होस्टि प्लांलट रेसिस्टें स इन कल्टीडवेटेड जूट एंड इट्स वाइल्डा रिलेटिव्सज टूवर्ड्स जूट हेयरी कैटरपिलर स्पिलोसोमा ऑब्लिका (लेपिडोप्टेरा : आर्कटिडे)। फ्लोरिडा एंटोमोलॉजिस्ट, 98 (2) : 721-727. DOI.org/10.1653/024.098.0248.
सेल्वराज, के और चंदर, एस (2014)। सिमुलेशन ऑफ क्ला्इमेट चेंज इम्पे क्ट् ऑन पिंक बोरर, सेसेमिया इनफ्रेन्सव पॉप्यूऔलेशन एंड क्रॉप-पेस्ट इंटरेक्श न्सस इन राइस। क्लाोइमेट चेंज, डीओआई 10.1007 / s10584-015-1385-3.
सेल्वराज, के., चंदर, एस और सुजीत्रा, एम. (2012)। डिटरमिनेशन ऑफ मल्टीप-स्पी,सीस इकोनोमिक इनजुरी लेवल्सफ फॉर राइस इनसेक्टप पेस्ट्स्। क्रॉप प्रोटेक्शशन, 32 : 150-160.
सेल्वराज, के., कौशिक, एच. डी., गुलाटी, आर और शर्मा, एस. एस. (2012). इवेलुवेशन ऑफ बीवेरिया बेसियाना (बालसामो) वुइलेमिन अगेंस्ट1 ऐफिस क्रासिवोरा (कोच) (एफिडिडे : होमोप्टेरा)। बायोपेस्टीसाइड्स इंटरनेशनल, 8 (2) : 125-130.
सेल्वराज, के., कौशिक, एच. डी., गुलाटी, आर और शर्मा, एस. एस. (2010). बायोएफिसिएंसी ऑफ बीवेरिया बेसियाना (बेलसेमो) वुईलेमिन अगेंस्ट. ह्याडाफिस कोरिएंड्री (दास) ऑन कोरिएंडर एंड ऐफिस क्रेसिवोरा कोच ऑन फेनुग्रीक। जर्नल ऑफ़ बायोलॉजिकल कंट्रोल, 24 (2) : 142-146.
सेल्वराज, के., चंदर, एस और प्रसन्ना कुमार, एन. आर. (2014). डिटरमिनेशन ऑफ थर्मल कंस्टेंीट एंड डिवलपमेंट थ्रेसहोल्ड- ऑफ पिंक बोरर, सेसेमिया इनफ्रेंस वाल्कसर। प्रोसिडिग्जी ऑफ द् नेशनल एकेडमी ऑफ साइंसिस, इंडिया सेक्शमन बी : बायोलॉजीकल साइंसिस। डीओआई 10.1007 / s40011-014-0348-1.
सेल्वराज, के., गोट्याल, बी. एस., सत्पथी, एस. और मीना, पी. एन. (2015). लाइफ टेबल एंड पॉप्यूालेशन पैरामीटर्स ऑफ बिहार हेयरी कैटरपिलर, स्पिलार्कटिया ऑब्ल्ियका वाल्कनर। इंडियन जर्नल ऑफ़ इकोलॉजी, 42 (1) : 31-34.
सेल्वराज, के., रमेश बाबू., वी., गोट्याल, बी. एस. और सत्पथी, एस. (2015)। टॉक्सिटी एंड बायो-एफिसिएंसी ऑफ इंडिविजुअल एंड कंबिनेशन ऑफ डायवर्सिफाइड इनसेक्टिसाइड्स अगेंस्ट् जूट हेयरी कैटरपिलर, स्पिलरक्टिया ऑब्ल्ि्का वाल्केर। जर्नल ऑफ एनवायरनमेंटल बायोलॉजी, 36 (6) : 1409-1414.
सुजीत्रा, एम., चंदर, एस और सेल्वराज, के. (2011). सिमुलेशन ऑफ राइस ब्राउन प्लांाटहोपर (नीलापर्वत लुगेंस (स्टाल) डेमेज फॉर डिटरमाइनिंग इकोनोमिक इनजुरी लेवल्सक। जर्नल ऑफ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च, 70 : 338-345.