समाचार और लेख

archives

saif

swach bharat

डॉ. आर. रांगेश्वटरन

Staff Image
Dr. R. Rangeshwaran
ई-मेल
दूरभाष सं.
080-2351-1982
फैक्‍स
080-2341-1961
व्‍यावसायिक अनुभव
13 वर्ष
एम.एससी., पीएच.डी. (कृषि कीटविज्ञान)
एम. एससी., पीएच. डी. (सूक्ष्मनजीव विज्ञान)
होमोप्‍टेरन नाशीजीवों के परभक्षियों के लिए बहु उत्‍पादन तकनीकों के विकास पर कार्यरत।
सूक्ष्म जीव विज्ञान
प्रशिक्षण
“फसल विज्ञान में जैवसूचना विज्ञान अनुप्रयोग'' पर अनुकार एवं सूचनाविज्ञान एकक, आईएआरआई, नई दिल्लीव में दिनांक 21-23 दिसंबर, 2009 के दौरान प्रशिक्षण।
“कृषि और आजीविका परियोजनाओं में परियोजना प्रबंधन और मूल्यां कन'' पर राष्ट्री0य ग्रामीण विकास संस्थाआन, हैदराबाद में दिनांक 9 से 13 मार्च, 2009 के दौरान प्रशिक्षण।
“नाशीजीव नाशकों और फसल रोगों का जैवसघन समेकित प्रबंधन' पर डीओआर, हैदराबाद में दिनांक 9-29 नवंबर, 2005 के दौरान प्रशिक्षण।
‘बायोलाजीकल एंड डीएनए इलेक्ट्रॉ न माइक्रोस्कोंपी' पर सीसीएमबी, हैदराबाद में दिनांक 1-15 जून, 1991 के दौरान प्रशिक्षण।
पुरस्‍कार और सम्‍मान
भाकृअनुप कनिष्ठए अध्येनतावृत्ति
आर. डी. प्रसाद एवं आर. रांगेश्वकरन द्वारा लिखित शोध कार्य ''ए मोडिफाइड लिक्विड मीडियम फॉर मास प्रोडक्शडन ऑफ ट्राइकोडर्मा बाइ फर्मेंटेशन प्रोसेस'' पर शिमोगा में आयोजित राष्ट्री य संगोष्ठीप में सर्वश्रेष्ठइ पोस्टफर पुरस्कापर, 1998.
'पादप विकृतिविज्ञान और खाद्य सुरक्षा' पर एमपीयूएटी, उदयपुर में दिनांक 10-13 जनवरी, 2012 के दौरान आयोजित तीसरे वैश्विक सम्मेालन में सर्वश्रेष्ठि शोध पत्र के लिए पी. आर. वर्मा पुरस्कारर प्राप्तै किया। राजलक्ष्मीर, एस. केशगॉड, एम. के. नायक, आर. रांगेश्ववरन एवं अश्विता, के.। आइसोलेशन एंड मॉलीक्यू्लर करेक्ट्राफइजेशन ऑफ इंडिजिनस फ्ल्यू,रोसेंट स्यूिडोमोनाड्स फॉर ए ब्रॉड स्पैशक्ट्र्म एंटीबायोटिक 2, 4-डिऐसिटाइल फ्लोरोग्लु‍सिनॉल (डीएपीजी) जीन फॉर बायोकंट्रोल।
संक्षिप्‍त उपलब्धियां
जल आधारित प्रवाहमयी बेसिलुस थुरिंजिंनसिस 20% a.i. के किण्वतन और संरूपण का मानकीकरण किया गया। देशज बेसिलुस थुरिंजिंनसिस (पीडीबीसीबीटी1) प्रौद्योगिकी (द्रव संरूपण (20% a.i.) को लेपिडोप्टे0रअस नाशीजीवों को नियंत्रित करने हेतु वाणिज्यिक अपटेक के लिए एनएआइपी एवं डीबीटी के पास जमा किया गया।
लेपिडोप्टेएरेआस नाशीजीवों से विषाक्ति चार देशज बी. थुरिंजिंनसिस वियुक्तोंत और एनबीएआईआई फार्म तथा एआईसीआरपी केंद्रों में मूल्यां कित द्रव संरूपण का लक्षणवर्णन किया गया।
बायोकंट्रोल पीजीपीआर और आईएसआर गतिविधि के लिए 104 स्यूिडोमोनस वियुक्तोंग का लक्षणवर्णन किया गया। उन्नईत पाउडर आधारित संरूपण विकसित किया गया।
लवणयुक्तं और तापमान सहिष्णु 42 स्यूदडोमोनस वियुक्तों की पहचान की गई। इन सभी वियुक्तोंन की पहचान 16s rDNA विश्लेआषण के द्वारा की गई और जीनबैंक से वंशावली संख्याचएं प्राप्तो की गईं।
काबूली चना, कपास, अरहर और टमाटर में उत्परन्नज अंत:पादपीय बैक्टीारिया की पहचान और लक्षणवर्णन किया गया।
अभिज्ञान
भाकृअनुप कनिष्ठ अध्येषतावृत्ति
आर. डी. प्रसाद एवं आर. रांगेश्वकरन द्वारा लिखित शोध कार्य ''ए मोडिफाइड लिक्विड मीडियम फॉर मास प्रोडक्शसन ऑफ ट्राइकोडर्मा बाइ फर्मेंटेशन प्रोसेस'' पर शिमोगा में आयोजित राष्ट्री य संगोष्ठीव में सर्वश्रेष्ठ पोस्टशर पुरस्कानर, 1998.
'पादप विकृतिविज्ञान और खाद्य सुरक्षा' पर एमपीयूएटी, उदयपुर में दिनांक 10-13 जनवरी, 2012 के दौरान आयोजित तीसरे वैश्विक सम्मेयलन में सर्वश्रेष्ठ, शोध पत्र के लिए पी. आर. वर्मा पुरस्कारर प्राप्तै किया। राजलक्ष्मीर, एस. केशगॉड, एम. के. नायक, आर. रांगेश्ववरन एवं अश्विता, के.। आइसोलेशन एंड मॉलीक्यू्लर करेक्ट्राफइजेशन ऑफ इंडिजिनस फ्ल्यू,रोसेंट स्यूिडोमोनाड्स फॉर ए ब्रॉड स्पैशक्ट्र्म एंटीबायोटिक 2, 4-डिऐसिटाइल फ्लोरोग्लु‍सिनॉल (डीएपीजी) जीन फॉर बायोकंट्रोल।
प्रकाशन
30
चयनित प्रकाशन
आर. रांगेश्वरन, के. अश्विता, जी. शिवकुमार और एस. के. जलाली. 2013. एनालाइसिस ऑफ प्रोटीन्सइ एक्समप्रैस्ड, बाइ एन अबायोटिक स्ट्रैशस टॉलरेंट स्यूाडोमोनस पुटिडा (NBAII-RPF9) आइसोलेट अंडर सेलाइन एंड हाई टेम्पेरेचर कंडिशन्सब। करंट माइक्रोबायोलॉजी (असेप्टेॉड)। एनएएएस रेटिंग 7.6.
प्रसाद, आर. डी., रंगेश्वरन, आर., हेगड़े, एस. वी. अनुरूप, सी.पी. 2002. इफेक्ट् ऑफ सॉयल एंड सीड एप्लीइकेशन ऑफ ट्राइकोडर्मा हर्ज़ियेनुम ऑन पीजनपी विल्टं कॉज्डन बाइ फ्युसेरियम यूडुम अंडर फील्डन कंडिशन्सश। क्रॉप-प्रोटेक्शिन, 21 : 293-297. एनएएएस रेटिंग 7.5.
आर. रांगेश्वरन, एन. वी. वाजिद, बी. रामानुजम, एस. श्रीराम, टी. वी. भास्करन और सतेन्द्र कुमार, 2010. एडीटिव्स‍ इन पाउडर बेस्डज फॉर्मुलेशन फॉर इनहांस्डल शेल्फा लाइफ ऑफ स्यू्डोमोनस फ्ल्यूीरोसेंस एंड बेसिलस स्पीि.। जर्नल ऑफ़ बायोलॉजिकल कंट्रोल, 24 : 158-163.
रांगेश्वरन, आर., श्रीरामकुमार, पी. और राज. जे. 2008. आइडेंटिफिकेशन ऑफ एंडोफाइटिक बैक्टीरिया इन चिकपी एंड देयर इफेक्टड ऑन प्लां्ट ग्रोथ। जर्नल ऑफ़ बायोलॉजिकल कंट्रोल, 22: 13-23.
रांगेश्वरन, आर., श्रीरामकुमार, पी. और राज. जे. 2008. रेसिस्टेंरस एंड ससेप्टिबिलिटी पैटर्न ऑफ चिकपी (साइसर एरिएटिनुम एल) एंडोफाइटिक बैक्टीरिया टू एंटीबायोटिक्स.। जर्नल ऑफ़ बायोलॉजिकल कंट्रोल, 22 : 393-403.
रांगेश्वरन, आर., वासनिकार, ए. आर., प्रसाद, आर. डी., अंजुला, एन. और सुनंदा, सी. आर. 2002. आइसोलेशन ऑफ एंडोफाइटिक बैक्टीरिया फॉर बायोलाजीकल कंट्रोल ऑफ विल्टा पैथोजन्सल, 16: 125-134.
रांगेश्वरन, आर., प्रसाद, आर. डी. और अनुरूप, सी. पी. 2001. फील्ड इवेलुवेशन ऑफ टू बैक्टीनरिअल एंटागोनिस्ट्स , स्यूडोमोनास पुटिडा (पीडीबीसीएबी 19) एंड पी. फ्लोरेसेंस (पीडीबीसीएबी 2) अगेंस्टच विल्टो एंड रूट-रॉट ऑफ चिकपी। जर्नल ऑफ़ बायोलॉजिकल कंट्रोल 15 : 165-170.
रंगेश्वरन, आर. और प्रसाद, आर. डी. 2000. आइसोलेशन एंड स्क्री निंग ऑफ राइजोबैक्टीरिया फॉर कंट्रोल ऑफ चीकपी डिजीजिज। जर्नल ऑफ बायोलॉजिकल कंट्रोल 14 : 9-15.
रंगेश्वरन, आर.; कृष्णामूर्ति राव, डब्ल्यू.; रामैया, पी. के. 1990. वेसिकुलर अर्बुस्कुइलर माइकोराइजा इन कॉफी। जर्नल ऑफ कॉफ़ी रिसर्च, 20 (1) पी. 55-68.
रंगेश्वरन, आर. और प्रसाद, आर. डी. 2000. बायोलॉजीकल कंट्रोल ऑफ स्केलेरियोटियुम रॉट ऑफ सनफ्लावर। इंडियन फाइटोपैथोलॉजी 53 : 444-449.
रामानुजम, बी., प्रसाद, आर. डी. और रांगेश्वरन, आर. 2006. अचीवमेंट्स इन बायोलॉजीकल कंट्रोल ऑफ डिजीजिज विद एंटागोनिस्टिक ऑर्गेनिज्स् ंक एट प्रोजेक्ट डायरेक्टोजरेट ऑफ बायोलॉजीकल कंट्रोल, बेंगलुरू। इन: करंट स्टेऑटस ऑफ बायोलॉजीकल कंट्रोल ऑफ प्लांदट डिजीजिज यूजिंग एंटागोस्टिक ऑर्गेनिज्स्रू इन इंडिया। एडीटर्स आर. जे. रवीन्द्र और बी. रामानुजम; प्रोसिडिग्ज् ऑफ द् ग्रुप मीटिंग ऑन एंटागोनिस्टिक ऑर्गेनिज्स्ऑ इन प्लांजट डिजीज मैनेजमेंट, बायोलॉजीकल कंट्रोल प्रोजेक्ट डायरोक्टोिरेट में दिनांक 10-11 जुलाई 2003 के दौरान आयोजित, पीपी.